धोनी का पहला खेल क्रिकेट नहीं बल्कि फुटबॉल था

महेंद्र सिंह धोनी ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया है. उनके संन्यास के साथ ही इंटरनेशनल क्रिकेट में बीते 15 सालों से चला आ रहा धोनी युग की समाप्ति हुई है.महेंद्र सिंह धोनी ने जितना नाम कमाया उतना सचिन तेंदुलकर ने भी नहीं कमाया धोनी की फैन फॉलोइंग पूरी दुनिया भर में है और कैप्टन को उसके नाम जाने जाते हैं हम शांत स्वभाव के खिलाड़ी हैं।

इस दौरान धोनी ने क्रिकेट के मैदान पर हर वो कामयाबी हासिल की, जिसका सपना कोई क्रिकेटर देखता है.धोनी के बारे में हम आपको बताते हैं दस ऐसी बातें जो शायद आपको ना पता हो.

क्रिकेट के जो सच्चे फैन हैं उनके लिए आज बहुत दुख की घड़ी है और वह काफी ज्यादा दुखी भी होंगे धोनी के संन्यास से पूछ लो लेकिन धोनी ने जो कुछ अपने करीब किया वह बहुत ही कम लोग इस दुनिया में कर पाते हैं।

महेंद्र सिंह धोनी इकलौते ऐसे कप्तान हैं, जिन्होंने आईसीसी की तीनों बड़ी ट्रॉफ़ी पर कब्ज़ा जमाया है.धोनी की कप्तानी में भारत आईसीसी की वर्ल्ड-टी20 (2007 में), क्रिकेट वर्ल्ड कप (2011 में) और आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफ़ी (2013 में) का खिताब जीत चुका है.

 धोनी का पहला प्यार फ़ुटबॉल रहा है. वे अपने स्कूल की टीम में गोलकीपर थे. फ़ुटबॉल से उनका प्रेम रह रहकर ज़ाहिर होता रहा है. इंडियन सुपर लीग में वे चेन्नई एफ़सी टीम के मालिक भी हैं. फ़ुटबॉल के बाद उन्हें बैडमिंटन भी ख़ूब पसंद था.धोनी के बारे में आप ज्यादा जानना चाहते क्योंकि बायोपिक MS धोनी अनटोल्ड स्टोरी देख सकते हैं काफी अच्छी कहानी दिखाई गई है।

  • छक्के लगाने से लेकर स्टंपिंग तक, धोनी नंबर वन!
  • अब धोनी पहले जैसे फिनिशर नहीं रहे?
  • सच में धोनी की एक ‘अनटोल्ड स्टोरी’!

एम एस धोनी को अपनी गाड़ियों से काफी ज्यादा लगा था उनके पास गाड़ी भी तो भरमार है और जानवरों में कुत्ते उन्होंने पाल रखी हुई कुत्ते ने काफी ज्यादा पसंद है।

इनके पास बाइक की ऐसी कलेक्शन है कि इंडिया में शायद ही किसी के शायद ही किसी के पास होगी हर किसी तरीके की नई से नई पुरानी से पुरानी बाइक है इनके पास साथ ही इनका खुद का गैराज भी उसके अंदर गाड़ियों की मरम्मत है खुद से अपने हाथों से करते हैं इन्होंने पैसे के साथ-साथ नाम भी बहुत अच्छा काम है कि हर कोई नहीं कमा पाता और इज्जत भी।


नमस्कार दोस्तों, मैं ZeeRojgar.com के संस्थापक और लेखक आशीष जेकब हूँ। मुझे नवीनतम तकनीक और गैजेट्स के बारे में जानने और दूसरों को सिखाने में मज़ा आता है इसलिए मैं 7 साल से ब्लॉगिंग कर रहा हूं। इस ब्लॉग के अलावा, मैं 10 से 12 ब्लॉग भी चलाता हूं। इसी तरह, आप लोग हमारे साथ जुड़े रहें, और हम आप के साथ नॉलेज शेयर करते रहेंगे।


Leave a Comment